Prayagraj Corona Update: एमएनएनआईटी के प्रोफेसर सहित 13 की मौत, 2122 नए संक्रमित मिले


ख़बर सुनें

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार रुकने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार को एमएनएनआईटी के प्रोफेसर, ईसीसी के सेवानिवृत्त प्रोफेसर कृष्ण मुरारी सहित 13 लोगों की मौत हो गई। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने मृतकों के नामों की सूची जारी नहीं की है। कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. ऋषि सहाय के मुताबिक मंगलवार को 2122 नए संक्रमित मिले। 

विभिन्न स्रोतों से मिली जानकारी के मुताबिक संक्रमण से जान गंवाने वालों में एमएनएनआईटी के प्रो. मनोज कुमार गणित के शिक्षक थे। जबकि प्रो. कृष्ण मुरारी काफी समय पहले ईसीसी से सेवानिवृत्त हो चुके थे। प्रो. कृष्ण मुरारी का उपचार हनुमानगंज स्थित एक निजी अस्पताल में चल रहा था। इसके अलावा नवाबगंज के पास आनापुर प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक मुरारी लाल यादव, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक हौसला प्रसाद शुक्ला की भी सांसें थम गईं। कोरोना के नोडल ऑफिसर डॉ. सहाय ने बताया कि मंगलवार को 12061 लोगों की जांच कराई गई। उसमें से 2122 संक्रमित पाए गए, यानी हर पांचवां संक्रमित मिला। इसके अलावा 1697 लोग संक्रमण मुक्त पाए गए। 61 को एसआरएन चिकित्सालय, बेली, रेलवे और निजी अस्पताल से छुट्टी दी गई, जबकि 1636 का होम आइसोलेशन पूरा हो गया। 

अस्पतालों से 61 मरीजों की छुट्टी के बाद नए संक्रमितों को बेड एलाट कर दिए गए, जबकि बहुत से लोग बेड के लिए सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी भटकते रहे। इनमें से कई की हालत गंभीर थी। उन्हें तुरंत भर्ती कर उपचार करने की जरूरत थी। लेकिन बेड न मिलने से उनका उपचार शुरू नहीं हो सका। इससे न केवल मरीज बल्कि उनके परिजन परेशान रहे।

विस्तार

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार रुकने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार को एमएनएनआईटी के प्रोफेसर, ईसीसी के सेवानिवृत्त प्रोफेसर कृष्ण मुरारी सहित 13 लोगों की मौत हो गई। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने मृतकों के नामों की सूची जारी नहीं की है। कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. ऋषि सहाय के मुताबिक मंगलवार को 2122 नए संक्रमित मिले। 

विभिन्न स्रोतों से मिली जानकारी के मुताबिक संक्रमण से जान गंवाने वालों में एमएनएनआईटी के प्रो. मनोज कुमार गणित के शिक्षक थे। जबकि प्रो. कृष्ण मुरारी काफी समय पहले ईसीसी से सेवानिवृत्त हो चुके थे। प्रो. कृष्ण मुरारी का उपचार हनुमानगंज स्थित एक निजी अस्पताल में चल रहा था। इसके अलावा नवाबगंज के पास आनापुर प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक मुरारी लाल यादव, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक हौसला प्रसाद शुक्ला की भी सांसें थम गईं। कोरोना के नोडल ऑफिसर डॉ. सहाय ने बताया कि मंगलवार को 12061 लोगों की जांच कराई गई। उसमें से 2122 संक्रमित पाए गए, यानी हर पांचवां संक्रमित मिला। इसके अलावा 1697 लोग संक्रमण मुक्त पाए गए। 61 को एसआरएन चिकित्सालय, बेली, रेलवे और निजी अस्पताल से छुट्टी दी गई, जबकि 1636 का होम आइसोलेशन पूरा हो गया। 

अस्पतालों से 61 मरीजों की छुट्टी के बाद नए संक्रमितों को बेड एलाट कर दिए गए, जबकि बहुत से लोग बेड के लिए सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी भटकते रहे। इनमें से कई की हालत गंभीर थी। उन्हें तुरंत भर्ती कर उपचार करने की जरूरत थी। लेकिन बेड न मिलने से उनका उपचार शुरू नहीं हो सका। इससे न केवल मरीज बल्कि उनके परिजन परेशान रहे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *